Sad Shayari

लगता है आज जिंदगी कुछ खफा है चलिए छोड़िये कौन सी पहली दफा है – गुलजार

Aankhen Thak Gayi Hai Aasmaan ko Dekhte Dekhte,
Par Wo Tara Nahin Tutta,
Jise Dekhkar Tumhe Maang Lun!

Aaj Kal Wo Humse Dijital Nafarat Karte Hain,
Humen Online Dekhte Hi Offline Ho Jaate Hain!

bewafa log badh rahe hain dhire dhire,
ek shahar ab inkaa bhi honaa chahiye!

ruthungaa agar tujhse to es kadar ruthungaa ki,
ye teri aankhe meri ek jhalak ko tarsengi!

tujhse achchhe to jakhm hain mere,
utni hi taklif dete hain jitni bardaast kar sakun!

meri har aah ko vaah mili hai yahaan,
kaun kahtaa hai dard biktaa nahin hai!

tumne samjha hi nahin aur na samajhna chaha,
hum chahte hi kya the tumse tumhare siwa!

More You Love People,
More they will hurt you
 
 
 
Things that are bad
Always taste nice
Remember that
 
 
 
All girls are the same
Then Shut Up &
Date one
 
 
 
I love rumors
I always find
Out amazing Things
About Myself
I never knew
 
 
 
 
I don’t hurt people
With a lie
I just fu*k them
With a truth
 
 
 
 
Finding friends
With the same
Mental disorder
Is priceless
 
 
 
When you truly
Love someone,
Their name itself
Becomes an emotion
 
 
 
If you trust someone
Else more than yourself
You will be the biggest
Joker

Little do you know
How I’m breaking
While you fall asleep.
Little do you know
I’m still haunted by
The memories
 
 
 
Everyone gets tired
Of me at some point,
Then eventually they’ll
Leave. They all do.
 
 
 
 
You can always make more money
But you can never get back time
 
 
 
Act like a fool
Think like a Brilliant
 
 
 
 
Those who fly solo
Have the strongest wings
 
 
 
Rule NO. 1 never expect
Anything from anybody
 
 
 
The right book
Can change everything
 
 
 
If you have a problem
With me don’t tell the world
Tell me and finish it with me
 
 
 
One bad chapter
Doesn’t mean your
Life is over don’t quit
 
 
 
I prefer dangerous
Freedom over peaceful
Slavery
 
 
 
May be your
I love you was
Made in china
 
 
 
You will never know
The power of yourself
Until someone hurts
You badly
 
 
 
Some people need
To open their small
Minds instead of their
Big mouths
 
 
 
Bad relationship
Changes good people
 
 
 
Don’t believe anyone
People can change anytime

More Sad Shayari coming Soon....

Kya Baat Hai, Bde Chupchaap Se Baithe Ho,
Koi Baat Dil Pe Lagi Hai Ya Dil Kanhi Laga Baithe Ho!

Kisi Ko N Paane Se Jindgi Khatm Nahin Hoti,
Lekin Kisi Ko Paakar Kho Dene Se Kuchh Baaki Bhi Nahin Rahtaa!

Sukun Ki Talaash Men Hum Dil Bechne Nikle The,
Khariddaar Dard Bhi De Gaya Aur Dil Bhi Le Gaya!

Wo Chhod Ke Gaye Hamen,
N Jaane Unki Kyaa Majburi Thi,
Khuda Ne Kaha Esmen Unkaa Koi Kasur Nahin,
Ye Kahaani To Maine Likhi Hi Adhuri Thi!

Wapas Laut Aaya Hai Hawaon Ka Rukh Modne Wala,
Dil Me Fir Utar Raha Hai Dil Todne Wale.

Sacchi Mohabbat Kabhi Khatam Nahi Hoti,
Waqt Ke Saath Khamosh Ho Jati Hai.

Jis Dil Main Basa Tha Naam Tera Humne Wo Tod Diya,
Na Hone Diya Tujhe Badnaam Bus Tere Naam Lena Chod Diya.

Sacche Pyaar Walo Ko Hmesha Log Glat Hi Samjhte Hai,
Jabki Time Pass Walo Se Log Khush Rehte Hai Aaj Kal.

रिश्ता बचाने के लिए झुकना पड़े तो झुक जाओ,
लेकिन हर बार तुम्हे ही झुकना पड़े तो रुक जाओ।

किसी का दिल दुखाने के बाद बेहतर होगा की ,
तुम भी अपनी बारी का इंतज़ार करो।

काश अपना दिल बस में होता ,
ना किसी की याद आती न ये दिल रोता।

मोहब्बत नहीं थी तो बता दिया होता ,
तेरे इस Time Pass ने मेरी जिंदगी बर्बाद करके रख दी।

मेरा दर्द सिर्फ मेरा था ,
ये जान कर मुझे और भी दर्द हुआ।

तुम दिल तोड़ो और मैं माफ़ कर दु,
ये हर बार मुझसे नहीं होता।

सही गलत कुछ नहीं,
तेरे लिए तू सही,
मेरे लिए मैं सही।

खुदा सलामत रखे उनकी आँखो की रौशनी,
जिनकी नज़रों को हम चुभते बहुत है।

बदलते लोग,
बदलते रिश्ते और बदलता मौसम ,
चाहे दिखाई ना दे मगर महसूस जरूर होते है।

एक तू और एक वक़्त ,
अफ़सोस दोनों ही बदल गए।

कदर वो होती जो किसी की मौजूदगी में हो ,
जो किसी के जाने के बाद हो उसे पछतावा कहते है।

साथ तो जिंदगी भी छोड़ देती है ,
फिर शिकायत सिर्फ मोहब्बत से क्यों।

बस ताल्लुकात ही ना रहे तुझसे ,
मोहब्बत तो तुझसे आज भी करते है।

संघर्ष करते हुए मत घबराना क्योंकि संघर्ष के दौरान ही इंसान अकेला होता है,
सफलता के बाद तो सारी दुनिया साथ देती है।

कुछ लोग जाहिर नहीं करते है,
लेकिन परवाह बहुत करते है।

तुम याद नहीं आते ,
तुम याद रहते हो।

माना मौसम भी बदलते है मगर धीरे –धीरे ,
तेरे बदलने की रफ़्तार से तो हवाएं भी हैरान है।

कितना मुश्किल है उस शख़्स को मानना ,
जो रूठा भी न हो और बात भी न करे।

ना जाने मेरी मौत कैसी होगी ,
पर ये तो तय है कि तेरी बेवफाई से तो बेहतर होगी।

Barishe Ho Hi Jati Hai Mere Shahar Men,
Kabhi Badlo Se To Kabhi Aankhon Se!

Wo Ro Ro Kar Kahti Rahi Mujhe Nafarat Hai Tumse,
Magar Ek Sawal Aaj Bhi Pareshan Kiye Hua Hai,
Ki Agar Nafarat Hi Thi To Wo Etnaa Roi Kyon!

Ye Naa Puchh Kitni Shikayten Hain Tujhse Ai Jindgi,
Sirf Etnaa Bata Ki Tera Koi Aur Sitam Baaki To Nahin!

Tuta Ho Dil To Dukh Hota Hai,
Karke Mohabbat Kisi Se Ye Dil Rota Hai,
Dard Ka Ehsaas To Tab Hota Hai,
Jab Kisi Se Mohabbat Ho Aur Uske Dil Men Koi Aur Hota Hai!

Bas Ek Tumko Hi Kho Denaa Baaki Tha,
Esse Buraa Es Saal Aur Kya Hona Baki Tha!

Suna Hai Bahut Baarish Hui Hai Tumhare Shahar Men,
Jyada Bhigna Mat,
Agar Dhul Gayi Sari Galtfahamiyan,
To Bahut Yaad Aayenge Hum!

Ye Aur Baat Ki Chaahat Ke Jakhm Gahre Hain,
Tujhe Bhulaane Ki Koshish To Varna Ki Hai Bahut!

Tum Etnaa Jo Muskura Rahe Ho,
Kya Gum Hai Jis Ko Chhupa Rahe Ho!

Es Bhari Duniya Men Koi Bhi Humara Na Hua,
Gair To Gair Hain Apno Ka Sahara Na Hua!

Apni Halat Ka Khud Ehsaas Nahin Hai Mujh Ko,
Main Ne Auron Se Suna Hai Ke Pareshaan Hun Main!

Tum Kya Jaano Apne Aap Se Kitna Main Sharminda Hun,
Chhut Gaya Hai Sath Tumhara Aur Abhi Tak Jinda Hun!

Maut Ke Naam Se,
Sukun Milne Laga,
Jindgi Ne,
Kam Nahi Sataya Humko!

Tere Gurur Ko Dekhakar Teri Tamanna Hi Chhod Di Humne,
zara Hum Bhi To Dekhe Kaun Chahta Hai Tumhe Hamaari Tarah!

Simat Gaya Mera Pyaar Bhi Chand Alfajon Men,
Jab Usne Kaha Mohabbat To Hai Par Tumse Nahin!

Ishq Ki Hamare Bas Etni Si Kahaani Hai,
Tum Bichhad Gaye Ham Bikhar Gaye,
Tum Mile Nahin Aur,
Ham Kisi Aur Ke Huye Nahi!

मौत के नाम से, सुकून मिलने लगा,
जिंदगी ने, कम नही सताया हमको!

एक ये ख्वाहिश के कोई ज़ख्म न देखे दिल का,
एक ये हसरत कि कोई देखने वाला तो होता!

एक तुम ही मिल जाते बस इतना काफ़ी था,
सारी दुनिया के तलबगार नहीं थे हम!

शेरो-शायरी तो दिल बहलाने का ज़रिया है साहब,
लफ़्ज़ कागज पर उतारने से महबूब नहीं लौटा करते!

मेरी हर शायरी मेरे दर्द को करेगी बंया ए गम,
तुम्हारी आँख ना भर जाएँ,कहीं पढ़ते पढ़ते।

तोड़ा कुछ इस अदा से ताल्लुक उसने ग़ालिब,
के सारी उम्र अपना क़सूर ढूँढ़ते रह गए!

बिखर जाते हैं,सर से पाँव तक,वो लोग,
जो किसी बेपरवाह से बे-पनाह इश्क करते है!

वो तो शायरों ने लफ्जो से सजा रखा है,
वरना मोहब्बत इतनी भी हसीँ नही होती!

वो एक पल ही काफी है… जिसमे तुम शामिल हो,
उस पल से ज्यादा तो ज़िंदगी की ख्वाहिश ही नहीं मुझे!

आदत मेरी अंधेरों से डरने की डाल कर,
एक शख्स मेरी ज़िन्दगी को रात कर गया!

अफसोस होता है जब,
हमारी पसंद कोई और चुरा लेता है,
ख्वाब हम देखते हैं और,
हकीक़त कोई और बना लेता है!

लोग कहते हैं इश्क़ एक धोखा है,
हमने सुना ही नहीं आज़मा के देखा है,
पहले लूट लेते हैं प्यार में जान तक,
फिर कहते हैं कौन हो आप,
आपको कहीं देखा है!

ये न कह मोहब्बत मिलना किस्मत की बात है,
क्योंकि मेरी बर्बादी में तेरा भी हाथ है!

खुदा कभी किसी पे फ़िदा न करे,
अगर करे भी तो कभी कयामत तक जुदा न करे!

देखी है बेरुखी की आज हम ने इन्तेहाँ,
हम पे नजर पड़ी तो वो महफ़िल से उठ गए।

दुआ करना दम भी उसी तरह निकले,
जिस तरह तेरे दिल से हम निकले!

अपनी ही मोहब्बत से मुकरना पड़ा मुझे,
जब देखा उसे रोता किसी और के लिए!

मेरी कोशिश कभी कामयाब ना हो सकी,
न तुझे पाने की न तुझे भुलाने की!

सीख कर गया है वो मोहब्बत मुझसे,
जिस से भी करेगा बेमिसाल करेगा!

पत्थर समझ कर पाँव से ठोकर लगा दी,
अफसोस तेरी आँख ने परखा नहीं मुझे,
क्या क्या उमीदें बांध कर आया था सामने,
उसने तो आँख भर के भी देखा नहीं मुझे।

जिसको आज मुझमे हजारो गलतिया नजर आती हैं,
कभी उसी ने कहा था तुम जैसे भी हो मेरे हो!

कमाल की मोहब्बत थी मुझसे उसको,
अचानक ही शुरू हुई और बिना बताये ही ख़त्म हो गई!

मैं बैठूंगा जरूर महफ़िल में मगर पियूँगा नहीं,
क्योंकि मेरा गम मिटा दे इतनी शराब की औकात नहीं!

उस मोड़ से शुरू करनी है फिर से जिंदगी ,
जहा सारा शहर अपना था और तुम अजनबी!

अपनी तन्हाई में तनहा ही अच्छा हूँ,
मुझे ज़रूरत नहीं दो पल के सहारो की!

हर दर्द से बड़ा होता है ये जुदाई का दर्द,
क्योंकि इसमें एक लम्हा जीने के लिए सौ बार मरना पड़ता है!

इंसान की ख़ामोशी ही काफ़ी है,
ये बताने के लिये की वो अंदर से टूट चूका है!

Jisko Aaj Mujme Hjaro Galtiya Najar Aati Hain,
Kbhi Usi Ne Kaha Tha Tum Jaise Bhi Ho Mere Ho!

Tumhen Chaahne Ki Vajah Kuchh Bhi Nahin,
Bas Ishq Ki Fitarat Hai Be-vajah Honaa!

Kmaal Ki Mohabbat Thi Mujhse Usko,
Achanak Hi Shuru Hui Or Bina Btaye Hi Khatm Ho Gai!

Meri Galti Bas Yahi Thi Ke Maine,
Har Kisi Ko Khud Se Zyada Jaruri Samja!

Kisi Ne Pucha Kbhi Ishq Hua Tha,
Hum Muskura Ke Bole Aaj Bhi Hai.

Tarash Gai Hain Aankhein Unke Deedar Ae Rukhsaar Ko Or Wo Hain Ki Khwaabo Me Bhi Ghungat Me Aate Hain.

Suna Tha Mohabbat Milti Hai Mohabbat Ke Badle,
Hmari Baari Aai To Rivaj Hi Badl Gya.

Wo Bure Waqt Ki Tarah,
Bahut Kuch Sikha Kar Chali Gayi….

Hamesha Ke Liye Rakhlo Na Mujhe Pass Apne,
Koi Puche To Bata Dena Ki Kirayedaar Hai Dil Ka…

Usne Ji Bhar Ke Mujhe Chahaa,
Fir Hua Yu Ki Uska Ji Bhar Gya…

Maana Mausam Bhi Badalte Hai Magar Dheere-dheere,
Tere Badalane Ki Raftaar Se To Hawaayen Bhi Hairaan Hain….

Naa Jaane Meri Maut Kaisi Hogi,
Par Ye To Tay Hai Ki Teri Bewafaai Se To Behtar Hogi….

Bas Tallukaat Hi Naa Rahe Tujhse,
Mohbbat To Tujhse Aaj Bhi Karte Hai.

Ek Parwaah Hi Batati Hai Ki Khyaal Kitna Hai,
Warna Koi Taraazo Nahi Hota Rishoon Me…

Sangharsh Krte Huye Mat Ghabrana Kyonki Sangharsh Ke Doran Hi Insaan Akela Hota Hai,
Saflta Ke Baad To Saari Duniya Saath Deti Hai.

Tum Yaad Nahi Aate,
Tum Yaad Rehte Ho…

Raat Ko Keh Do Jara Dheere Se Gujare,
Kaafi Minnaton Ke Baad Aaj Dard Soo Raha Hai…

Kisi Ne Kya Khoob Kaha Hai,
Akad To Sab Me Hoti Hai,
Jhukta Wahi Hai Jise Risho Ki Fikar Hoti Hai…

Chalo Maan Liya Tumhaari Aadat Hai Tadpana,
Lekin Socho Koi Mar Gya To…

Mat Khol Meri Kismat Ki Kitaab Ko,
Har Uss Sakhsq Ne Dil Ko Dukhaya Hai Jis Par Mujhe Naaz Tha….

दर्द दो तरह के होते है ,
एक वो जो आपको तकलीफ देता है,
दूसरा वो जो आपको बदल देता है।

कुछ लोग भरोसे के लिए रोते है ,
और कुछ लोग भरोसा करके रोते है।

बार बार माफ़ तो किया जा सकता है,
मगर भरोसा नहीं।

सोचा ही नहीं था जिंदगी में ऐसे भी फ़साने होंगे,
रोना भी जरूरी होगा और आंसू भी छिपाने होंगे।

Jab Mila Shikwa Apno Se Ho To Khamoshi Hi Bhli,
Ab Har Baat Pe Jung Ho Yeh Jruri To Nhi.

Dard Ki Bhi Apni Ek Adaa Hai,
Wo Bhi Shne Walo Par Fidaa Hai.

Kbhi Kbhi Kisi Ko Dekh Lena Hi,
Sukoon Paane Ke Liye Bhut Hota Hai.

Gar Yakin Na Ho To Bichad Kar Dekh Lo,
Tum Miloge Sabse Magar Hmaari Hi Talash Mein.

Badalana Kon Chahta Hai Janaab,
Log Yaha Majboor Kar Dete Hai Badalane Ke Liye…

Tumm Soch Bhi Nahi Sakte,
Hum Kitna Sochte Hai Tumhe…

Dil Bada Hona Chaiye,
Baatein To Sab Badi Badi Karte Hai…

बेवफा तुम नहीं,
बदनसीब हम निकले।

Naa Wo Sapnaa Dekho Jo Tut Jaaye,
Naa Wo Haath Thaamo Jo Chhut Jaaye!

तू अधूरी मोहब्बत तो कर,
वादा ,मैं पूरा इश्क़ दूंगी।

मतलब ख़तम होने पर …हर इंसान को रंग बदलते देखा है मैंने।

Ajeeb Si Betabi Hai Tere Bin Reh Bhi Lete Hain Or Rha Bhi Nhi Jaata.

Jise Chaho Usse Kuch Mat Chaho...

तन्हाई बेहतर है मतलबी लोगों से।

रिश्ते मौके के नहीं ,
भरोसे के मोहताज़ होते है।

कर गया तनहा जैसे कभी मिला ही न हो।

Maine Apni Zindgi Me Saare Mahnge Sabak,
Saste Logo Se Hi Seekhe Hai…

Jinka Milna Kismat Me Na Ho,
Unse Mohabbat Kmaal Ki Hoti Hai.

Use Ishq Tha,
Mujhe Aaj Bhi Hai…