Makar Sankranti Wishes in Hindi

काट ना सके कभी कोई पतंग आपकी,
टूटे ना कभी डोर विश्वास की,
छू लो आप ज़िन्दगी की सारी कामयाबी,
जैसे पतंग छूती है ऊँचाइयाँ आसमान की।
मकर सक्रांति की हार्दिक शुभ कामनायें!



ऊँची पतंग से मेरी ऊँची उड़ान होंगी।
इस जहाँ में मेरे लिए मंजिले तमाम होंगी।
जब भी आसमान की और देखोगे तुम दोस्तों।
तुम्हारे ही हाथों मेरी डोर के साथ जान होंगी।
तिल्ली भी पीली और गुड़ में मिठास होंगी।
मकर सक्रांति पर्व पर मेरी तरफ से बधाइयाँ बार बार होंगी।



बंदे हैं हम देश के,
हम पर किसका ज़ोर?
मकर संक्रान्ति में उड़े,
पतंगे चारो और
लंच में खाएं फिरनी गोल,
अपना मांझा खुद सूतने,
आज हम चले छत की और,
हैप्पी मकर सक्रांति!



मुंगफली की खुश्बु
और गुड़ की मिठास,
दिलों में खुशी और,
अपनो का प्यार,
मुबारक हो आपको,
मकर संक्रांति का त्योंहार।



पूर्णिमा का ‘चाँद, रंगों की ‘डोली’.
चाँद से उसकी चांदनी बोली
खुशियो से भरे आपकी ‘झोली
मुबारक हो आप को रंग बिरंगी
‘पतंग वाली ’ मकर संक्रांति
हैप्पी मकर संक्रांति 2020!



ठण्ड की एक सुबह पड़ेगा हमे नहाना
क्यों की संक्रांति का पर्व कर देगा मौसम सुहाना
कही पतंग कही दही चुरा कही खिचड़ी
सब कुछ का है मिल कर ख़ुशी मनना
हैप्पी मकर संक्रांति 2020!



पल पल सुनहरे फूल खिले, कभी ना हो कांटों का सामना, जिंदगी आपकी खुशियों से भरी रहे, संक्रांति पर हमारी यही शुभकामना। हैप्पी मकर संक्रांति 2020!



बाजरे की रोटी, निम्बू का आचार, सूरज की किरणें, चांद की चांदनी और अपनों का प्यार, हर जीवन हो खुशाल. मुबारक हो मकर संक्रांति का त्योहार।



सूरज की राशी बदलेगी,
कुछ का नसीब बदलेगा,
यह साल का पहला पर्व होगा,
जब हम सब मिल कर खुशियाँ मनाएंगे।
हैप्पी मकर संक्रांति 2020!



ख़ुशी का है यह मौसम,
गुड और टिल का है यह मौसम,
पतंग उड़ाने का है यह मौसम,
शांति और समृद्धि का है यह मौसम।
2020 मकर संक्रांति की शुभकामनायें!



हो आपके जीवन में खुशियाली,
कभी भी न रहे कोई दुख देने वाली पहेली,
सदा खुश रहें आप और आपकी फॅमिली।
हैप्पी मकर संक्रांति 2020!



मीठी बोली , मीठी जुबान,
मकर संक्रांति पर यही है पैगाम।
मकर संक्रांति की हार्दिक शुभकामनाएँ!



टिल हम हैं और गुड आप,
मिठाई हम हैं और मिठास आप,
साल के पहले त्यौहार से हो रही है शुरुवात,
आपको हमारी तरफ से ढेर सारी मुराद।



सभी लोगों को मिले सन्मति,
आज है मकर संक्रांति,
मित्रों उठ गया है दिनकर,
चलो उडाये पतंग मिलकर।



एक सुबह नयी सी कुछ धुप,
अब नहीं रहेंगे हम साब चुप,
करेंगे पूजा पाठ,
खायेंगे गुड, तिल लड्डू साथ।



बहार देखो !
मौसम खुशमिजाज़ है,
सूर्य हंस रहा है,
पेड़ पौधे नाच रहे हैं,
चिड़िया गा रहे हैं,
क्योंकि आपको मकर संक्रांति की शुभकामनायें देने के लिए,
हमने उन्हें कहा है।



हमें आशा है इस मकर संक्रांति आप के जीवन के सभी दुख जल कर रख हो जाएँ, और आप के जीवन में खुशियाँ और प्यार भर जाये।



तन में मस्ती, मान में उमंग,
देखकर सबका अपनापन,
गुड में जैसे मीठापन,
हो कर साथ हम उड़ायेंगे पतंग,
और भर लें आकाश में अपने रंग।
हैप्पी मकर संक्रांति 2020!



तिल पकवानों की मिठास पकवानों में भारियाँ,
पतंगों की तरह आकाश में उड़न पैयाँ,
और अपनी मेहनत से अपने बुलंदिओं को संभाल के राखियाँ।



मीठे गुड में मिल गए तिल,
उडी पतंद और खिल गए दिल,
हल पल सुख और हर दिन शांति,
आप सब के लिए लाये मकर संक्रांति।



मकर संक्रांति के मौके पर इन बधाई संदेशों का इस्तेमाल करें और अपने प्रियजनों को शुभकामनाएं भेजें। साल के शुरुआती त्योहारों में से एक इस दिन आपकी झोली खुशियों से भर जाएं हम भी यही कामना करते हैं।



सजने लगी है आरती की थाली,
मंदिर में बजने लगी हैं घंटियां,
और सजने लगी हैं आरती की थाली
सूर्य की रोशन किरणों के साथ
अब तो सुनाई देती है एक ही बोली।
मकर संक्रांति की शुभकामनाएं!



बासमती चावल हों और उड़द की दाल
घी की महकती खुशबू हो और आम का अचार
दहीबड़े की सुगंध के साथ हो अपनों का प्यार
मुबारक हो आप सभी को खिचड़ी का ये भीना त्योहार।
हैप्पी मकर संक्रांति 2020!



उड़ी वो पतंग और खिल गया दिल
गुड़ की मिठास में देखो मिल गया तिल
चलो आज उमंग-उल्लास में खो जाएं हम लोग
सजाएं थाली और लगाएं अपने भगवान को भोग।
हैप्पी मकर संक्रांति 2020!



मंदिर में बजने लगी हैं घंटियां
और सजने लगी हैं आरती की थाली
सूर्य की रोशन किरणों के साथ
अब तो सुनाई देती है एक ही बोली।
मकर संक्रांति की शुभकामनाएं!



ये पतंग भी बिल्कुल तुम्हारी तरह निकली, जरा सी हवा क्या लग गई हवा में उडने लगी।



मोहब्बत एक कटी पतंग है जनाब.., गिरती वही है जिसकी छत बड़ी होती है।