Love Shayari

ज़िन्दगी के सफ़र में आपका सहारा चाहिए,
आपके चरणों का बस आसरा चाहिए,
हर मुश्किलों का हँसते हुए सामना करेंगे,
बस ठाकुर जी आपका एक इशारा चाहिए ।

जिस दिल में बसा था नाम तेरा हमने वो तोड़ दिया,
न होने दिया तुझे बदनाम बस तेरे नाम लेना छोड़ दिया ।

आशिक के नाम से सभी जानते हैं,
इतना बदनाम हो गए हम मयखाने में,
जब भी तेरी याद आती है बेदर्द मुझे,
तोह पीते हैं हम दर्द पैमाने में ।

हम इश्क़ के उस मुकाम पर खड़े है,
जहाँ दिल किसी और को चाहे तो गुन्हा लगता है ।

सच्चे प्यार वालों को हमेशा लोग गलत ही समझते है,
जबकि टाइम पास वालो से लोग खुश रहते है आज कल ।

गिलास पर गिलास बहुत टूट रहे हैं,
ख़ुशी के प्याले दर्द से भर रहे हैं,
मशालों की तरह दिल जल रहे हैं,
जैसे ज़िन्दगी में बदकिस्मती से मिल रहे हैं ।

सिर्फ वक़्त गुजारना हो तो किसी और को अपना बना लेना,
हम दोस्ती भी करते है तो प्यार की तरह ।

नशे में भी तेरा नाम लब पर आता है,
चलते हुए मेरे पाँव लड़खड़ाते हैं,
दर्द सा दिल में उठता है मेरे,
हसीं चेहरे पर भी दाग नजर आता है ।

हमने भी एक ऐसे शख्स को चाहा,
जिसको भुला न सके और वो किस्मत मैं भी नहीं ।

सच्चा प्यार किसी भूत की तरह होता है,
बातें तो सब करते है देखा किसी ने नहीं ।

मत पूछ ये की मैं तुझे भुला नहीं सकता,
तेरी यादों के पन्ने को मैं जला नहीं सकता,
संघर्ष यह है कि खुद को मारना होगा,
और अपने सुकून की खातिर तुझे रुला नहीं सकता ।

दुनिया को आग लगाने की ज़रूरत नहीं,
तू मेरे साथ चल आग खुद लग जाएगी ।

तरस गये है हम तेरे मुंह से कुछ सुनने को,
प्यार की बात न सही कोई शिकायत ही कर दे ।

तुम नहीं हो पास मगर तन्हाँ रात वही है,
वही है चाहत यादों की बरसात वही है,
हर खुशी भी दूर है मेरे आशियाने से,
खामोश लम्हों में दर्द-ए-हालात वही है ।

करने लगे जब शिकवा उससे उसकी बेवफाई का,
रख कर होठ को होठ से खामोश कर दिया ।

जिंदगी में कोई प्यार से प्यारा नही मिलता,
जिंदगी में कोई प्यार से प्यारा नही मिलता,
जो है पास आपके उसको सम्भाल कर रखना,
क्योंकि एक बार खोकर प्यार दोबारा नही मिलता ।

बहुत सुकून मिलता है जब उनसे हमारी बात होती है,
वो हजारो रातों में वो एक रात होती है,
जब निगाहें उठा कर देखते हैं वो मेरी तरफ,
तब वो ही पल मेरे लिए पूरी कायनात होती है ।

किसी न किसी को किसी पर एतवार हो जाता है,
एक अजनबी सा चेहरा ही यार हो जाता है,
खूबियों से ही नही होती मोहब्बत सदा,
किसी की कमियों से भी कभी प्यार हो जाता है ।

दिल का हाल बताना नही आता,
हमे ऐसे किसी को तड़पाना नही आता,
सुनना तो चाहतें हैं हम उनकी आवाज़ को,
पर हमे कोई बात करने का बहाना नही आता ।

हर कदम हर पल हम आपके साथ है,
भले ही आपसे दूर सही, लेकिन आपके पास हैं,
जिंदगी में हम कभी आपके हो या न हों,
लेकिन हमे आपकी कमी का हर पल एहसास हैं ।

इश्क करती हूँ तुझसे अपनी जिंदगी से ज्यादा,
मैं डरतीं हूँ मौत से नही तेरी जुदाई से ज्यादा,
चाहे तो हमे आज़मा कर देख किसी और से ज्यादा,
मेरी जिंदगी में कुछ नही तेरी आवाज़ से ज्यादा ।

जब खामोश निगाहों से बात होती है,
तो ऐसे ही मोहब्बत की शुरुआत होती है,
हमतो बस खोये ही रहतें हैं उनके ख्यालों में,
पता ही नही चलता कब दिन कब रात होती है ।

हकीकत कहो तो उन्हें ख्वाब लगता है,
शिकवा करो तो उन्हें मज़ाक लगता है,
कितनी शिद्दत से हम उन्हें याद करते हैं,
और एक वो हैं जिन्हें ये सब मजाक लगता है ।

इस नजर ने उस नजर से बात करली,
रहे खामोश मगर फिर भी बात करली,
जब मोहब्बत की फ़िज़ा को खुश पाया,
तो दोनों निगाहों ने रो रो कर बरसात करली ।

तुझे देख कर ये जहाँ रंगीन नजर आता है,
तेरे बिना दिल को चैन कहां आता है,
तू ही है मेरे इस दिल की धड़कन,
तेरे बिना ये जहां बेकार नज़र आता है ।

तू तोड़ दे वो कसम जो तूने खाई है,
कभी कभी याद करने में क्या बुराई है,
तुझे याद किये बिना रहा भी तो नही जाता,
तूने दिल में जगह जो ऐसी बनाई है ।

इश्क सभी को जीना सीखा देता है,
वफ़ा के नाम पर मरना सीखा देता है,
इश्क नही किया तो करके देखना,
ज़ालिम हर दर्द सहना सिखा देता है ।

आपकी परछाई हमारे दिल में है,
आपकी यादें हमारी आँखों में हैं,
आपको हम भुलाएं भी कैसे,
आपकी मोहब्बत हमारी सांसो में हैं ।

नज़रे करम मुझ पर इतना न कर,
की तेरी मोहब्बत के लिए बागी हो जाऊं,
मुझे इतना न पिला इश्क़-ए-जाम की,
मैं इश्क़ के जहर का आदि हो जाऊं ।

हमें सीने से लगाकर हमारी सारी कसक दूर कर दो,
हम सिर्फ तुम्हारे हो जाऐ हमें इतना मजबूर कर दो ।

अपनी कलम से दिल से दिल तक की बात करते हो
सीधे सीधे कह क्यों नहीं देते हम से प्यार करते हो ।

घायल कर के मुझे उसने पूछा,
करोगे क्या फिर मोहब्बत मुझसे,
लहू-लहू था दिल मेरा मगर,
होंठों ने कहा बेइंतहा-बेइंतहा ।

नहीं है अब कोई जुस्तजू इस दिल में ए सनम,
मेरी पहली और आखिरी आरज़ू बस तुम हो ।

खड़े-खड़े साहिल पर हमने शाम कर दी,
अपना दिल और दुनिया आप के नाम कर दी,
ये भी न सोचा कैसे गुज़रेगी ज़िंदगी,
बिना सोचे-समझे हर ख़ुशी आपके नाम कर दी ।

मेरे होंठो पर लफ्ज़ भी अब तेरी तलब लेकर आते हैं,
तेरे जिक्र से महकते हैं तेरे सजदे में बिखर जाते हैं ।

हम तो तेरी आवाज़ से प्यार करते हैं,
तस्सवुर में तेरे तन्हाइयों से प्यार करते हैं,
जो मेरे नाम से तेरे नाम को जोड़े ज़माने वाले,
उन चर्चों से अब हम प्यार करते हैं ।

ऐसा क्या बोलूं कि तेरे दिल को छू जाए,
ऐसी किससे दुआ मांगू कि तू मेरी हो जाए,
तुझे पाना नहीं तेरा हो जाना है मन्नत मेरी,
ऐसा क्या कर दूं कि ये मन्नत पूरी हो जाए ।

क्या चाहूँ रब से तुम्हें पाने के बाद,
किसका करूँ इंतज़ार तेरे आने के बाद,
क्यों मोहब्बत में जान लुटा देते हैं लोग,
मैंने भी यह जाना इश्क़ करने के बाद ।

भूल जाता हूँ मैं सबकुछ आपके सिवा, यह क्या मुझे हुआ है,
क्या इसी एहसास को दुनिया ने इश्क़ का नाम दिया है ।

आ के मेरी साँसों में बिखर जाओ तो अच्छा होगा,
बन के रूह मेरे जिस्म में उतर जाओ तो अच्छा होगा,
किसी रात तेरी गोद में सिर रख के सो जाऊं,
फिर उस रात की कभी सुबह ना हो तो अच्छा होगा ।

लोग कहते हैं उसको खुदा की इबादत है,
ये मेरी समझ में तो एक जहालत है,
रात जाग के गुजरे, दिल को चैन न आए,
जरा बताओ दोस्तों क्या यही मोहब्बत है ।

मोहब्बत भी शराब के नशा जैसी है दोस्तों,
करें तो मर जाएँ और छोड़े तो किधर जाएँ ।

मेरे दिल के किसी कोने में अब कोई जगह नहीं,
कि तस्वीर-ए-यार हमने हर तरफ लगा रखी है ।

मैं तेरे प्यार में इतना ग़ुम होने लगा हूँ सनम,
जहाँ भी जाऊं बस तुम्हें ही सामने पाने लगा हूँ,
हालात यह हैं कि हर चेहरे में तू ही तू दिखता है,
ऐ मेरे खुदा अब तो मैं खुद को भी भुलने लगा हूँ ।

कैसे कहें कुछ भी कहा नहीं जाता,
दर्द मिलता है पर सहा नहीं जाता,
हो गया है इश्क आपसे बे-इन्तिहाँ,
कि अब तो बिन देखे आपको जिया नहीं जाता ।

एक उमर बीत चली है तुझे चाहते हुए,
तू आज भी बेखबर है कल की तरह ।

वफ़ा कहती है इल्तेजा क्या करनी,
वो मोहब्बत ही क्या जो मिन्नतों से मिले ।

चाहत हुई किसी से तो फिर बेइन्तेहाँ हुई,
चाहा तो चाहतों की हद से गुजर गए,
हमने खुदा से कुछ भी न माँगा मगर उसे,
माँगा तो सिसकियों की भी हद से गुजर गये ।

कुछ ख़ास जानना है तो प्यार कर के देखो,
अपनी आँखों में किसी को उतार कर के देखो,
चोट उनको लगेगी आँसू तुम्हें आ जायेंगे,
ये एहसास जानना है तो दिल हार कर के देखो ।

न जाहिर हुई तुमसे और न ही बयान हुई हमसे,
बस सुलझी हुई आँखो में उलझी रही मोहब्बत ।

लोगों ने रोज ही नया कुछ माँगा खुदा से,
एक हम ही हैं जो तेरे ख्याल से आगे न गये ।

राज़ खोल देते हैं नाजुक से इशारे अक्सर,
कितनी खामोश मोहब्बत की जुबान होती है ।

कोई रिश्ता जो न होता, तो वो खफा क्यों होता?
ये बेरुखी, उसकी मोहब्बत का पता देती है ।

मुझ में लगता है कि मुझ से ज्यादा है वो,
खुद से बढ़ कर मुझे रहती है जरुरत उसकी ।

मोहब्बत नाम है जिसका वो ऐसी क़ैद है यारों,
कि उम्रें बीत जाती हैं सजा पूरी नहीं होती ।

वो रख ले कहीं अपने पास हमें कैद करके,
काश कि हमसे कोई ऐसा गुनाह हो जाये ।

टपकती है निगाहों से बरसती है अदाओं से,
मोहब्बत कौन कहता है कि पहचानी नहीं जाती ।

रूबरू मिलने का मौका मिलता नहीं है रोज,
इसलिए लफ्ज़ों से तुमको छू लिया मैंने ।

जन्नत-ए-इश्क में हर बात अजीब होती है,
किसी को आशिकी तो किसी को शायरी नसीब होती है ।

बहुत नायाब होते हैं जिन्हें हम अपना कहते हैं,
चलो तुमको इज़ाजत है कि तुम अनमोल हो जाओ ।

रोज साहिल से समंदर का नजारा न करो,
अपनी सूरत को शबो-रोज निहारा न करो,
आओ देखो मेरी नजरों में उतार कर खुद को,
आइना हूँ मैं तेरा मुझसे किनारा न करो ।

इजहार-ए-मोहब्बत पे अजब हाल है उनका,
आँखें तो रज़ामंद हैं लब सोच रहे हैं ।

दिल में ना हो जुर्रत तो मोहब्बत नहीं मिलती,
खैरात में इतनी बड़ी दौलत नहीं मिलती ।

किसी से प्यार करो और तजुर्बा कर लो,
ये रोग ऐसा है जिसमें दवा नहीं लगती ।

इन्कार जैसी लज्जत इक़रार में कहाँ,
बढ़ता रहा इश्क ग़ालिब उसकी नहीं-नहीं से ।

आप और आपकी हर बात मेरे लिए ख़ास है,
यही शायद प्यार का पहला एहसास है ।

तुम्हारी खुशियों के ठिकाने बहुत होंगे मगर,
हमारी बेचैनियों की वजह… बस तुम हो ।

खुशबू बनकर तेरी साँसों में शमा जायेंगे,
सुकून बनकर तेरे दिल में उतर जायेंगे,
महसूस करने की कोशिश तो कीजिये एक बार,
दूर रहते हुए भी पास नजर आएंगे ।

ये जिंदगी चाहे कितने पल की भी मिले,
बस यही दुआ है बस तेरे संग मिले ।

बस मुझे अपने बाहों में सुलालो,
फिर चाहे कितना भी मुझे रुला लो ।

हज़ार बार भी रूठे तो मना लूँगा तुझे,
मगर देख मोहब्बत में शामिल कोई दूसरा ना हो ।

वापस लौट आया है हवाओं का रुख मोड़ने वाला,
दिल में फिर उतर रहा है दिल तोड़ने वाला ।

किस्मत यह मेरा इम्तेहान ले रही है,
तड़पकर यह मुझे दर्द दे रही है,
दिल से कभी भी मैंने उसे दूर नहीं किया,
फिर क्यों बेवफाई का वह इलज़ाम दे रही है ।

अपनों के बीच बेगाने हो गए हैं,
प्यार के लम्हे अनजाने हो गए हैं,
जहाँ पर फूल खिलते थे कभी,
आज वहां पर वीराने हो गए हैं ।

जो शख्स तेरे तसव्वुर से हे महक जाये,
सोचो तुम्हारे दीदार में उसका क्या होगा ।

मोहब्बत का एहसास तो हम दोनों को हुआ था,
फर्क सिर्फ इतना था की उसने किया था और मुझे हुआ था ।

सांसों की डोर छूटती जा रही है,
किस्मत भी हमे दर्द देती जा रही है,
मौत की तरफ हैं कदम हमारे,
मोहब्बत भी हम से छूटती जा रही है ।

समझता ही नहीं वो मेरे अलफ़ाज़ की गहराई,
मैंने हर लफ्ज़ कह दिया जिसे मोहब्बत कहते है ।

समंदर न सही पर एक नदी तो होनी चाहिए,
तेरे शहर में ज़िन्दगी कही तो होनी चाहिए ।

नज़रों से देखो तोह आबाद हम हैं,
दिल से देखो तोह बर्बाद हम हैं,
जीवन का हर लम्हा दर्द से भर गया,
फिर कैसे कह दें आज़ाद हम हैं ।

मुझे नहीं मालूम वो पहली बार कब अच्छा लगा,
मगर उसके बाद कभी बुरा भी नहीं लगा ।

तुमसे ही रूठ कर,
तुम्ही को याद करते हैं,
हमे तो ठीक से,
नाराज़ होना भी नहीं आता ।

नहीं बस्ती किसी और की सूरत अब इन आँखों में,
काश की हमने तुझे इतने गौर से न देखा होता ।

जिसने भर दिया दामन को बेरंग फूलों से,
उनके एक दर्द पर हम क्यों तड़पने लगते है ।

मुझसे वादा करो मुझे रुलाओगे नहीँ,
हालात जो भी हो मुझे भुलाओगे नहीं ।

हर पल हर लम्हा हम होते बेक़रार है,
तुझसे दूर होते है तो लगता है लाचार है,
बस एक बार देखो आँखों में मेरी,
मेरे इस दिल में तेरे लिए कितना प्यार है ।

हकीकत जान लो जुदा होने से पहले,
मेरी सुन लो अपनी सुनने से पहले,
यह सोच लेना भूलने से पहले,
बहुत रोई है यह आँखें मुस्कुराने से पहले ।

हम ना अजनबी हैं ना पराए हैं,
आप और हम एक रिश्ते के साए हैं,
जब भी जी चाहे महसूस कर लीजिएगा,
हम तो आपकी मुस्कुराहट में समाए हैं ।

तेरा रूठना भी इतना अच्छा लगता है,
कि दिल करता है दिनभर तुझे छेड़ता ही रहूँ ।

मुस्कुरा जाता हूँ अक्सर गुस्से में भी तेरा नाम सुन कर,
तेरे नाम से इतनी मोहब्बत है तो सोच तुझसे कितनी होगी ।

आता नही था हमें इकरार करना,
ना जाने कैसे सीख गये प्यार करना,
रुकते ना थे दो पल कभी किसी के लिए,
ना जाने कैसे सीख गये इंतेज़ार करना ।

हमने देखा था खुद को तेरी सूरत में,
आईना देख कर अब रात कट जाती हैं ।

दिल की खिड़की से बाहर देखो ना कभी,
बारिश की बूँदों सा है एहसास मेरा ।

दिल में दर्द है आँखों में बेकरारी है,
हमें लगी इश्क की अजीब बीमारी है ।

मुस्कुराने से शुरू और रुलाने पर खत्म,
ये वो जुल्म है जिसे लोग मोहब्बत कहते हैं ।

Life में एक बार प्यार तो करना ही चाहिए,
सच्चा हो तो जिन्दगी बन जाती है और,
झूठा हो तो Experience मिल जाता है ।

मोहब्बत इतनी शिद्दत से करो कि,
वह धोखा देकर भी सोचे कि,
वापिस जाऊँ तो किस मुह से जाऊँ?

शराब तो यूँ ही बदनाम है,
हमने तो मोहब्बत के नशे में,
लोगों को मरते हुए देखा है ।

हजारों चेहरों में,
एक तुम ही दिल को अच्छे लगे,
वरना ना तो चाहत की कमी थी,
और ना ही चाहने वालो की ।

किसी ना किसी को,
किसी पर ऐतबार हो जाता है,
एक अजनबी सा चेहरा,
बेशुमार यार हो जाता है,
खूबियों से नहीं होती मोहब्बत सदा,
किसी की कमियों से भी कभी प्यार हो जाता है ।

नकाब से ढका था उसका पूरा बदन,
मगर आँखें बता रही थी कि वो मोहब्बत के शौकीन है ।

तेरे सिवा किसी और की चाहत नहीं,
तेरे सिवा किसी और से मोहब्बत नहीं ।

मेरी मोहब्बत की हद ना तय कर पाओगे तुम,
तुम्हें सांसों से भी ज्यादा मोहब्बत करते हैं हम ।

बदलना नहीं आता हमें मौसम की तरह,
हर एक रूप मैं तेरा इंतज़ार करता हूँ,
ना तुम समझ सको कयामत तक,
कसम तुम्हारी तुम्हे इतना प्यार करते है ।

कोई ग़ज़ल सुना कर क्या करना,
यूँ बात बढ़ा कर क्या करना,
तुम मेरे थे… तुम मेरे हो,
दुनिया को बता कर क्या करना।
तुम साथ निभाओ चाहत से,
कोई रस्म निभा कर क्या करना,
तुम खफ़ा भी अच्छे लगते हो,
फिर तुमको मना कर क्या करना ।

उन हसीं पालो को याद कर रहे थे,
आसमान से आपकी बात कर रहे थे,
सुकून मिला जब हमे हवाओ ने बताया,
आप भी हमें याद कर रहे थे ।

वो नाराज होता तो,
उसे हर कीमत पर मना लेते,
वो रिश्ता ही नहीं रखना चाहता तो,
उसे मनाये कैसे?

सच्चे प्यार की यही पहचान है,
लड़ते हैं, झगड़ते हैं,
फिर भी…
एक-दुसरे के बिना रह नहीं पाते ।

तुम खास थे,
इसलिए लड़े तुमसे,
पराये होते तो,
मुस्कुरा कर जाने देते ।

तुमसे लड़ते झगड़ते हैं,
और नाराजगी भी रखते हैं,
पर तुम्हारे बिना जीने का,
ख्याल नहीं रखते ।

कभी नजर ना लगे,
तुम्हारी इस मुस्कान को,
दुनिया की हर खुशी मिले,
मेरी जान को ।

मोहब्बत सीखनी है तो मौत से सीखो,
जो एक बार गले लगा ले तो,
फिर किसी का होने नहीं देती ।

अगर मेरे नाम से कभी,
दिल धड़क उठे तुम्हारा,
तो समझ लेना…
प्यार झूठा नहीं था हमारा ।

नसीब वाले होते हैं वो लोग,
जिनकी फिकर और प्यार करने वाला कोई होता है ।

वो नकाब लगा कर खुद को,
इश्क से महफूज समझते रहे,
नादां इतना भी नहीं समझते कि इश्क,
चेहरे से नहीं आँखों से शुरू होता है ।

वह कहता है सोच लेना था,
मोहब्बत करने से पहले,
अब उसे कौन बताये?
सोच कर तो साजिश की जाती है ।

दिल की आवाज को इजहार कहते हैं,
झुकी निगाह को इकरार कहते हैं,
सिर्फ पाने का नाम इश्क नहीं,
कुछ खोने को भी प्यार कहते हैं ।

मोहब्बत हो कर भी हम,
तुमसे छुपते फिरते हैं,
तुम्हें अनदेखा कर फिर,
छुप छुप कर देखा करते हैं ।

शिकायत तो खुद से है,
तुमसे तो आज भी इश्क है ।

हमें क्या मालूम था,
इश्क होता क्या है?
तुम मिले और,
जिन्दगी मोहब्बत बन गयी ।

खुद पूछो अपने दिल से कि,
क्या वो मुझको भुलाना चाहता है?
अगर वह हां कह दे तो,
कसम से मोहब्बत छोड़ देंगे ।

शायराना सी हो जाती है फिजाएं खुद-ब-खुद,
तेरे करीब होने का जब-जब एहसास होता है ।

पता नहीं ये प्यार है या मेरी नादानी,
बस हल पल तुम्हे याद करना,
मुझे अच्छा लगता है ।

यूँ शक ना किया करो मेरी मोहब्बत पे,
तुम्हारे बिना भी हम तुम्हारे रहते हैं ।

माना कि तुम मेरे नहीं,
पर मुलाकात कर लो,
होठों से ना सही,
आँखों से ही बात कर लो ।

मुझे पता है मेरी खुद्दारियां तुम्हें खो देगी,
मै भी क्या करू, मुझे मांगने की आदत नहीं ।

तुम्हारे एक लम्हे पर भी हक नहीं मेरा,
ना जाने तू किस हक से,
मेरे हर लम्हे में शामिल है ।

तुमसे अच्छा तो,
हम चाँद से मोहब्बत कर लेते,
लाख दूर सही,
पर नजर तो आता हैं ।

नाम तेरा ऐसे लिख चुके हैं,
अपने वजूद पर,
कि तेरा नाम कहीं भी सुन लु तो,
दिल धड़क जाता है ।

तुम्हारी दुनिया में हम जैसे हजारों होंगे,
लेकिन मेरी दुनिया में,
तुम्हारे सिवा कोई नहीं है ।

Tu Hazar Bar Bhi Roothe To Mna Lunga Tujhe,
Magar Dekh Mohabbat Me Shamil Koi Dusra Na Ho.

Mre To Lakhon Honge Tujhpar,
Main To Tere Saath Jeena Chhaahta Hun.

‏Jo Shakhs Tere Tasawwur Se He Mahak Jaye,
Socho Tumhare Deedaar Me Uska Kiya Hoga.

Mohabbat Ka Ehsaas To Hum Dono Ko Hua Tha,
Fark Sirf Itna Tha Ki Usne Kiya Tha Aur Mujhe Hua Tha.

Samjhta Hi Nahi Wo Mere Alfaaz Ki Gahrayi,
Maine Har Lafz Keh Diya Jise Mohabbat Kahte Hai.

Samandar Na Sahi Par Ek Nadi To Honi Chahiye,
Tere Sahar Me Zindagi Kahi To Honi Chahiye.

Mujhe Nahi Maloom Woh Pehli Baar Kab Acha Laga,
Magar Uske Baad Kabhi Bura Bhi Nahi Laga.

Pyaar Wo Nhi Jo Hasil Karne Ke Liye Kuch Bhi Karva De,
Pyaar Wo Hai Jo Uski Khushi Ke Liye Apne Armaan Chor De.

Hum Ishq Ke Wo Mukaam Par Khade Hai,
Jahan Dil Kisi Aur Ko Chahe To Gunha Lagta Hai.

Sirf Waqt Gujarna Ho To Kisi Aur Ko Apna Bana Lena,
Hum Dosti Bhi Karte Hai To Pyar Ki Tarah.

Jaroori Nahi Ishq Me Banhoon Ke Share Hi Mile,
Kisi Ko Ji Bhar Ke Mahsoos Karna Bhi Mohabbat Hai.

Humne Bhi Ek Aise Shakhs Ko Chaha,
Jisko Bhula Na Sake Aur Wo Kismat Main Bhi Nahi.

Sachcha Pyar Kisi Bhoot Ki Tarah Hota Hai,
Bate To Sab Karte Hai Dekha Kisi Ne Nahi.

Duniya Ko Aag Lagane Ki Zarurat Nahi,
To Mere Saath Chal Aag Khud Lag Jayegi.

Taras Gaye Hai Hum Tere Muh Se Kuch Sunne Ko,
Pyaar Ki Baat Na Sahi Koi Shikayat Hi Kar De.

Karne Lage Jab Shikwa Usse Uski Bewafai Ka,
Rakh Kar Honto Ko Honto Se Khamosh Kar Diya.

Nazre Karam Mujh Par Itna Na Kar,
Ki Teri Mohabbat Ke Liye Baagi Ho Jaaun,
Mujhe Itna Na Pila Ishq-E-Jaam Ki,
Main Ishq Ke Jahar Ka Aadi Ho Jaaun.

Hume Seene Se Lagakar Humari Sari Kasak Door Kar Do,
Hum Sirf Tumhare Ho Jaye Hume Itna Majaboor Kar Do.

Apni Kalam Se Dil Se Dil Tak Ki Baat Karte Ho,
Seedhe Seedhe Kah Kyon Nahin Dete Ham Se Pyar Karte Ho.

Ghayal Kar Ke Mujhe Usne Poochha,
Karoge Kya Phir Mohabbat Mujhse,
Lahoo-Lahoo Tha Dil Mera Magar,
Honthon Ne Kaha Beintha-Beintha.

Tere Aaspas Rahun,
Nahin Hai Ab Koi Justaju Is Dil Mein E Sanam,
Meri Pahli Aur Aakhiri Aarzoo Bas Tum Ho.

Har Khushi Aapke Naam Kar Di,
Khade-Khade Sahil Par Hamne Shaam Kar Di,
Apna Dil Aur Duniya Aap Ke Naam Kar Di,
Ye Bhi Na Socha Kaise Guzaregi Zindagi,
Bina Soche-Samjhe Har Khushi Aapke Naam Kar Di.

Mere Hontho Par Lafz Bhi Ab Teri Talab Leke Aate Hain,
Tere Jikr Se Mehkte Hain Tere Sajde Me Bikahar Jate Hain.

Mere Naam Se Tere Naam Ko Jode,
Ham To Teri Aawaaz Se Pyar Karte Hain,
Tassavur Main Tere Tanhaiyon Se Pyar Karte Hain,
Jo Mere Naam Se Tere Naam Ko Jode Zamane Wale,
Un Charchon Se Ab Ham Pyar Karate Hain.

Aisa Kya Bolun Ki Tere Dil Ko Chhoo Jaye,
Aisi Kisse Dua Maangu Ki Tu Meri Ho Jaye,
Tujhe Paana Nahin Tera Ho Jaana Hai Mannat Meri,
Aisa Kya Kar Doon Ki Ye Mannat Poori Ho Jaye.

Kya Chahun Rab Se Tumhen Pane Ke Baad,
Kiska Karoon Intezaar Tere Aane Ke Baad,
Kyu Moahabbat Mein Jaan Luta Dete Hain Log,
Maine Bhi Yeh Jana Ishq Karne Ke Baad.

Bhul Jata Hu Main Sab Kuchh Aapke Siwa,
Ye Kya Mujhe Hua Hai,
Kya Isi Ehsaas Ko Duniya Ne Ishq Ka Naam Diya Hai.

Udas Nahi Hona Kyon Ki Main Saath Hoon,
Saamne Na Sahi Par Aas-paas Hoon,
Palkon Ko Band Kar Jab Bhi Dil Mein Dekhoge,
Main Har Pal Tumhare Sath Hu.

Apni Zindagi Ka Alag Usool Hain,
Pyar Ki Khatir to Kante Bhi Qubool Hai,
Hans Ke Chal Du Kaanch Ke Tukdo Par,
Agar Pyar Kahe Ye Mere Bichaye Hue Phool.

Khata Ho Gayi To Saja Bata Do,
Dil Me Itna Dard Kyu Hai Wajah Bata Do,
Der Ho Gayi Hai Yaad Karne Me Jarur,
Lekin Tumko Bhula Denge Ye Khayal Dil Se Mita Do.

Fark Hota Hai khuda Aur Fakir Me,
Fark hota Hai kismat Aur Lakir Me,
Agar kuch Chaho Aur Na Mile To samaj Lena ki,
kuch Aur Accha Likha hai Takdir me.

Tujhe Dekhu To Sara Jaha Rangeen Nazar Aata Hai,
Tere Bina Dil Ko Chain Kaha Aata Hai,
Tum Hi Ho Mere Dil Ki Dhadkan,
Tere Bina Ye Sansar Suna Suna Nazar Aata Ha.

Kabhi Sambhle Toh Kabhi Bikhar Gaye,
Ab Toh Khud Mein Hi Simat Gaye Hum,
Yun Toh Jamana Khareed Nahi Sakta Hamein,
Magar Pyaar Ke Do Lafzon Se Bik Gaye.

Kachchi Deewar Hoon Thokar Na Lagana Mujhe,
Apni Najron Mein Basaa Kar Na Girana Mujhe,
Tumko Aankhon Mein Tasawwur Ki Tarah Rakhta Hoon,
Dil Mein Dhadkan Ki Tarah Tum Bhi Basana Mujhe.

Yeh Kaisa Silsila Hai Tere Aur Mere Darmiyaan,
Faasle To Bahot Hain Magar Mohabbat Kam Nahi Hoti.

Uski Mohabbat Ka Silsila Bhi,
Kya Ajeeb Silsila Tha,
Apna Banaya Bhi Nahi Aur,
Kisi Ka Hone Bhi Na Diya.

Jane Us Shakhs Ko Kaise Ye Hunar Aata Hai,
Raat Hoti Hai To Aakho Me Utar Aata Hai,
Main Us Ke Khayalo Se Bach Ke Kahan Jaaun,
Wo Meri Soch Ke Har Raste Pe Najar Aata Hai.

Har Sham Se Tera Izhaar Kiya Karte Hai,
Har Khwab Me Tera Didar Kiya Karte Hai,
Diwane Hi To Hai Hum Tere,
Jo Har Waqt Tere Milne Ka Intzaar Kiya Karte Hai.

Tere Bina Tutkar Bikhar Jayenge,
Tum Mil Gaye To Gulshan Ki Tarah Khil Jayenge,
Tum Na Mile To Jite Ji Mar Jayenge,
Tumhe Paa Liya To Markar Bhi Jee Jayenge.

Sukun Milta Hai Jab Unse Baat Hoti Hai,
Hajaar Raaton Mein Woh Ek Raat Hoti Hai,
Nigah Uthakar Jab Dekhte Hain Woh Meri Taraf,
Mere Liye Wohi Pal Poori Qaaynat Hoti Hai.

Tumhe Dil Main Basaye Rakhta Hoon Aur Duniya Ko Bhoolaye Rakhta Hoon,
Tumhe Meri Nazar Na Lag Jaye Iss Liye Nazarein Jukaye Rakhta Hoon.

Bheegi Aankho Se Muskurane Me Maza Aur Hai,
Haste Haste Palke Bhigane Me Maza Aur Hai,
Baat Khehke Toh Koi Bhi Samjhe,
Khamoshi Ko Koi Samjhe Toh Maza Aur Hai.

Wo Mere Dil Per Sar Rakh K Soyi Thi,
Bekhber Hmne Dhadkan Hi Rok Li Kahi Nind Na Tut Jaaye Unki.

Aap to Manzil Ko Mushkil Samajte Hain,
Hum Aap Ko Manzil Samajte Hain,
Bada Fark Hai Aapke or Hamare Nazariye Mai,
Aap Hume Sapna or Hum Aap Ko Apna Samajte Hai.

Tumhari Duniya Me Hum Jaise Hajaron Honge,
Lekin Meri Duniya Me,
Tumhare Siwa Koi Nahi Hai.

Mujhe Pataa Hai Meri Khudaariyan Tumhein Kho Degi,
Main Bhi Kya Karn?
Mujhe Maangne Ki Aadat Nahi.

Tumhare Ek Lamhein Par Bhi Hak Nahi Mera,
Naa Jane Tu Kis Hak Se,
Mere Har Lamhein Me Shamil Hai.

Tumse Accha To,
Hum Chand Se Mohabbat Kar Lete,
Lakh Door Sahi,
Par Nazar To Aata Hai.

Naam Tera Aise Likh Chuke Hain,
Apne Wajood Par,
Ki Tera Naam Kahin Bhi Sun Lun To,
Dil Dhadak Jata Hai.

Aap khud nahi janti aap kitni pyari ho,
Jaan ho hamari par jaan se pyaari ho,
Duriyon ke hone se koi fark nahi padta,
Aap kal bhi hamari thi aaj bhi hamari ho.

Aapki Ada Se Hum Madhosh Ho Gaye,
Aap Ne Palat Kar Dekha To Hum Behosh Ho Gaye,
Yehi Ek Baat Kehni Thi Aapse,
Na Jaane Kyun Aapko Dekhthe Hi Hum Khamosh Ho Gaye.

Kitna Pyar Hai Tumse Yeh Jan Lo,
Tum Hi Zindagi Ho Meri Is Baat Ko Maan Lo,
Tumhe Dene Ko Mere Paas Kuchh Bhi Nahi,
Bas Ek Jaan Hai Jab Ji Chahe Maang Lo.

Wo Ek Pal Hi Kaafi Hai,
Jisme Tum Shamil Ho,
Uss Pal Se Jyada Toh,
Zindagi Ki Khwaish Hi Nahi Mujhe.

Jadu Hai Teri Har Ek Baat Me,
Yaad Bahut Aate Ho Din Aur Raat Me,
Kal Jab Dekha Tha Mene Sapna Raat Me,
Tab Bhi Apka Hi Hath Tha Mere Hath Me.

Tere Naam Se Mohabbat Ki Hai,
Tere Ehsaas Se Mohabbat Ki Hai,
Tum Mere Pass Nahi Phir Bhi,
Tumhari Yaad Se Mohabbat Ki Hai,
Kabhi Tum Ne Bhi Mujhe Yaad Kiya Hoga,
Maine Un Lamhat Se Mohabbat Ki Hai,
Tum Se Milna to Ek Khwab Sa Lagta Hai,
Maine Tumhare Intezar Se Mohabbat Ki Hai.

Usne Mujhse Pucha Pyar Kya Hai,
Mene Katon Pe Chal Ke Dikha Diya,
Usne Pucha Kitna Pyar Karte Ho Mujhe,
Maine Pura Aasman Dikha Diya,
Usne Pucha Kese Rakhoge Pyar Ko,
Mene Mahkta Hua Gulab Dikha Diya,
Usne Pucha Kese Rahoge Mere Sath,
Mene Zameen Par Apna Saya Dikha Diya.

Maana Ki Tum Mere Nahi,
Par Mulakaat Kar Lo,
Hothon Se Na Sahi,
Aankhon Se Hi Baat Kar Lo.

Socha Tha Aaj Tere Siwa Kuchh Aur Sochu,
Abhi Tak Is Soch Me Hun Ki Aur Kya Sochu?

Yun Shak Naa Kiya Karo Meri Mohabbat Pe,
Tumhare Bina Bhi Hum Tumhare Rahte Hain.

Pata Nahi Ye Pyaar Hai Ya Meri Nadaani,
Bas Har Pal Tumhein Yaad Karna,
Mujhe Accha Lagta Hai.

Shayarana Si Ho Jati Hai Fizaen Khud-b-Khud,
Tere Kareeb Hone Ka Jab Jab Ehsaas Hota Hai.

Khud Poocho Apne Dil Se Ki,
Kya Wo Mujhko Bhulana Chahta Hai?
Agar Wah Haan Kah De To,
Kasam Se Mohabbat Chod Denge.

Hamein Kya Maloom Tha, Ishq Hota Kya Hai,
Tum Mile Aur, Zindagi Mohabbat Ban Gayi.

हर पल आपको हंसाना, आपसे बातें करना,
थोड़ा लड़ना और हद से ज्यादा प्यार करना,
बस यही तो है, मेरी जिंदगी ।

ना तुम हमसे मिलो,
ना हम गुजारिश करेंगे,
खुश रहो, जहाँ रहो…
बस खुदा से यही सिफारिश करेंगे ।

चुरा के नजर हमसे,
आखिर कहाँ तक जाओगे?
अगर तकदीर में होंगे तो,
एक दिन मिल ही जाओगे ।

कुछ तो नशा होगा,
तेरे इश्क में…ए दिलबर,
सारी आदतें अपनी छोड़ के,
तलब तेरी जो लगा बैठे हम ।

Mohabbat Ho Kar Bhi Hum,
Tumse Chhupte Phirte Hain,
Tumhein Andekha Kar Phir,
Chhup Chhup Kar Dekha Karte Hain.

Dil Ki Awaaz Ko Izhar Kahte Hain,
Jhuki Nigah Ko Ekraar Kahte Hain,
Sirf Paane Ka Naam Ishq Nahi,
Kuchh Khone Ko Bhi Pyaar Kahte Hai.

Tum Rakh Naa Sakoge Mera Tohfa Sambhalkar,
Warna Main Abhi De Doon, Jism Se Rooh Nikal Kar.

Vo Kahta Hai Soch Lena Tha,
Mohabbat Karne Se Pehle,
Ab Use Kaun Bataye?
Soch Kar To Sazis Ki Jati Hai.

Wo Nakaab Laga Kar Khud Ko,
Ishq Se Mehfooj Samajhte Rahe,
Nadan Itna Bhi Nahi Samajhte Ki Ishq,
Chehre Se Nahi,
Aankhon Se Shuru Hota Hai.

Naseeb Wale Hote Hain Wo Log,
Jinki Fikr Aur Pyaar Karne Wala Koi Hota Hai.

Muskraa Jaata Hu Aksar Gusse Me Bhi, Tera Naam Sun Kar,
Tere Naam Se Itni Mohabbat Hai To Soch Tujhse Kitni Hogi.

Mat Puch Wajah Ki Kyu,
Chahti Hun Tujhe,
Kyonki Sacha Ishq Wajah Se Nahi,
Bewajah Hota Hai.

Aata Nahi Tha Hume Ikraar Karna,
Na Jaane Kaise Sikh Gaye Pyaar Karna,
Rukte Na The Do Pal Kabhi Kisi Ke Liye,
Na Jaane Kaise Sikh Gaye Intejaar Karna.

Humne Dekha Tha Khud Ko Teri Surat Me,
Aayina Dekh Kar Ab Raat Kat Jati Hain.

Dil Ki Khidki Se Bahar Dekho Na Kabhi,
Baarish Ki Bundo Sa Hai Ehsaas Mera.

Dil Me Dard Hai Aankho Mein Bekrari Hai,
Hume lagi Ishq Ki Ajeeb Bimari Hai.

Muskurane Se Shuru Aur Rulane Par Khatm,
Ye Wo Julm Hai Jise Log Mohabbat Kahte Hain.

Life Me Ek Baar Pyaar To Karna Hi Chahiye,
Saccha Ho To Zindagi Ban Jati Hai,
Aur Jhootha Ho To Experience Mil Jata Hai.

Mohabbat Itni Siddat Se Karo Ki,
Wah Dhokha Dekar Bhi Soche Ki,
Wapis Jaoon To Kis Mooh Se Jaoon?

Sharab To Yun Hi Badnaam Hai,
Hamne To Mohabbat Ke Nashe Me,
Logon Ko Marte Hue Dekha Hai.

Hazaron Chehron Me,
Ek Tum Hi Dil Ko Acche Lage,
Warna Naa To Chahat Ki Kami Thi,
Aur Naa Hi Chahne Walon Ki.

Kisi Naa Kisi Ko,
Kisi Par Aitbaar Ho Jata Hai,
Ek Ajnabi Sa Chehra,
Beshumar Yaar Ho Jata Hai,
Khubiyon Se Nahi Hoti Mohabbat Sada,
Kisi Ki Kamiyon Se Bhi Kabhi Pyaar Ho Jata Hai.

Nakab Se Dhaka Tha Uska Poora Badan,
Magar Aankhen Bata Rahi Thi Ki,
Wo Mohabbat Ke Shaukeen Hai.

Ab Dekho Kiski Jaan Jati Hai?
Maine Uski Aur Usne Meri,
Kasam khai hai.

Wo Naraz Hota To,
Use Har Kimat Par Mana Lete,
Wo Rishta Hi Nahi Rakhna Chahta To,
Use Manaye Kaise?

Sacche Pyar Ki Yahi Pehchaan Hai,
Ladte Hain Jhagadte Hain,
Phir Bhi… Ek Dusre Ke Bina Reh Nahi Paate.

Aisa Sahara Banenge Tumhara Ki,
Kabhi Toot Na Paoge,
Aur Itna Chahenge Tumhein Ki,
Kabhi Rooth Na Paoge.

Har Pal Aapko Hasana, Aapse Baatein Karna,
Thoda Ladna Aur Had Se Jyada Pyaar Karna,
Bas Yahi To Hai Meri Zindagi.

Na Tum Humse Milo,
Na Hum Guzarish Karenge,
Khush Raho, Jahan Raho,
Bas Khuda Se Yahi Sifarish Karenge.

Chura Ke Nazar Humse,
Aakhir Kahan Tak Jaoge?
Agar Takdeer Me Honge To,
Ek Din Mil Hi Jaoge.

Kuchh To Nasha Hoga,
Tere Ishq Me…E Dilbar,
Saari Aadaten Apni Chhod Ke,
Talab Teri Jo Laga Baithe Hum.

Tum Meri Zindagi Ki Wo Kami Ho,
Jo Meri Zindagi Me Zindagi Bhar Rahegi.

Tum Khaas The,
Isliye Lade Tumse,
Paraye Hote To,
Muskura Kar Jane Dete.

Tumse Ladte Jhagadte Hain,
Aur Narazgi Bhi Rakhte Hain,
Par Tumhare Bina Jeene Ka,
Khayal Nahi Rakhte.

Kabhi Nazar Na Lage,
Tumhari Is Muskaan Ko,
Duniya Ki Har Khushi Mile,
Meri Jaan Ko.

Mohabbat Sikhni Hai To,
Maut Se Sikho,
Jo Ek Baar Gale Laga Le To,
Phir Kisi Ka Hone Nahi Deti.

Agar Mere Naam Se Kabhi,
Dil Dhadak Uthe Tumhara,
To Samajh Lena,
Pyar Jhootha Nahi Tha Hamara.

Aa Ke Meri Sanson Mein Bikhar Jao To Achcha Hoga,
Ban Ke Rooh Mere Jism Mein Utar Jao To Achcha Hoga,
Kisi Raat Teri God Mein Sir Rakh Ke So Jaaun,
Phir Us Raat Ki Kabhi Subah Na Ho To Achchha Hoga.

Log Kahte Hain Usko Khuda Ki Ibaadat Hai,
Ye Meri Samajh Mein To Ek Jahalat Hai,
Raat Jaag Ke Gujre Dil Ko Chain Na Aaye,
Jara Batao Doston Kya Yahi Mohabbat Hai.

Mohabbat Bhi Sharab Ke Nasha Jaisi Hai Dosto,
Karen To Mar Jayen Aur Chhode To Kidhar Jayen.

Mere Dil Ke Kisi Kone Mein Ab Koi Jagah Nahin,
Ki Tasveer-E-Yaar Hamne Har Taraf Laga Rakhi Hai.

Main Tere Pyar Mein Itna Gum Hone Laga Hun Sanam,
Jahan Bhi Jaaun Bas Tumhen Hi Samane Pane Laga Hun,
Halaat Yah Hain Ki Har Chehre Mein Tu Hi Tu Dikhta Hai,
Ai Mere Khuda Ab To Main Khud Ko Bhi Bhulane Laga Hun.

Kaise Kahen Kuchh Bhi Kaha Nahin Jaata,
Dard Milta Hai Par Saha Nahin Jaata,
Ho Gaya Hai Ishq Aapse Be-Intihaan,
Ki Ab To Bin Dekhe Aapko Jiya Nahin Jaata.

Ek Umar Beet Chali Hai Tujhe Chahte Hue,
Tu Aaj Bhi BeKhabar Hai Kal Ki Tarah.

Wafa Kehti Hai ilteza Kya Karni,
Woh Mohabbat Hi Kya Jo Minnaton Se Mile.

Muqammal Na Sahi Adhoora Hi Rahne Do,
Ye Ishq Hai Koi Maqsad Toh Nahi Hai.

Chahat Hui Kisi Se Toh Fir Be-Inteha Hui,
Chaha Toh Chahaton Ki Hadd Se Gujar Gaye,
HumNe Khuda Se Kuchh Bhi Na Manga Magar Use,
Manga Toh Siskiyon Ki Bhi Hadd Se Gujar Gaye.

Kuchh Khaas JaanNa Hai To Pyar Kar Ke Dekho,
Apni Aankhon Mein Kisi Ko Utaar Kar Ke Dekho,
Chot Unko Lagegi Aansoo Tumhein Aa Jayenge,
Ye Ehsaas JaanNa Hai To Dil Haar Kar Ke Dekho.

Na Jahir Hui Tumse Aur Na Hi Bayaan Hui Humse,
Bas Suljhi Hui Aankhon Mein Uljhi Rahi Mohabbat.

Logon Ne Roj Hi Naya Kuchh Manga Hai Khuda Se,
Ek Hum Hi Hain Jo Tere Khayal Se Aage Na Gaye.

Raaz Khol Dete Hain Nazuk Se Ishaare Aksar,
Kitni Khamosh Mohabbat Ki Jubaan Hoti Hai.

Koi Rishta Jo Na Hota,To Wo Khafa Kyun Hota? Ye Be Rukhi Uski Mohabbat Ka Pata Deti Hai.

Mujh Mein Lagta Hai Ke Mujh Se Zyada Hai Wo,
Khud Se BathKar Mujhe Rehti Hai Jarurat Uski.

Aap Aur Aapki Har Baat Mere Liye Khaas Hai,
Yahi Shayad Pyaar Ka Pahla Ehsaas Hai.

Tumhari Khushion Ke Thhikane Bahut Honge Magar,
Humari Bechainiyon Ki Wajah Bas Tum Ho.

Khusboo Bankar Teri Saanso Mein Sama Jayenge,
Sukoon Bankar Tere Dil Me Utar Jayenge,
Mehsoos Karne Ki Kosish To Kijiye Ek Baar,
Durr Rehte Huye Bhi Pass Najar Aayenge.

Ye Zindagi chahe Kitne Pal Ki Bhi Mile,
Bss Yahi Dua Hai Tere Sang Mile.

Bas Mujhe Apne Baaho Mein Sula Lo,
Fir Chahe Kitna Bhi Mujhe Rula Lo.

Tere Siwa Kisi Aur Ki Chahat Nahi,
Tere Siwa Kisi Aur Se Mohabbat Nahi.

Bhut Bure Ho Tum,
Fir Bhi Tumse Achaa Koi Nahi Lagta.

Aur Kitna Pyaar Karu Main Tumhe,
Ki Tumhe Dil Me Rakh Kar Bhi Dil Nahi Bharta.

Nhi Basti Kisi Aur Ki Surat Ab In Aankho Me,
Kaash Ki Humne Tujhe Itne Gaur Se Na Dekha Hota.

Jisne Bhar Diya Daaman Ko Berang Phulo Se,
Unke Ek Dard Par Hum Kyu Tadpne Lagte Hai.

Tumse Hi Rooth Kar,
Tumhi Ko Yaad Karte Hain,
Hume To Theek Se,
Naraz Hona Bhi Nahi Aata.

Mujhse Waada Karo Mujhe Rulaoge Nahi,
Haalat Jo Bhi Ho Mujhe Bhulaoge Nahi.

Har Pal Har Lamha Hum Hote Bekraar Hai,
Tujhse Durr Hote Hai To Lagta Hai Laachaar Hai,
Bss Ek Baar Dekho Aankho Me Meri,
Mere Iss Dil Mein Tere Liye Kitna Pyaar Hai.

Hakikat Jaan Lo Juda Hone Se Pehle,
Meri Sun Lo Apni Sunne Se Pehle,
Yeh Soch Lena Bhulne Se Pehle,
Bahut Roi Hai Ye Aankhein Muskurane Se Pehle.

Hum Na Ajnabi Hain Na Paraye Hain,
Aap Aur Hum Ek Rishte Ke Saaye Hain,
Jb Bhi Ji Chahe Mehsoos Kar Lijiyega,
Hum To Aapki Muskurahat Me Samaaye Hain.

Un Haseen Palo Ko Yaad Kar Rahe The,
Aasmaan Se Aapki Baat Kar Rahe The,
Sukun Mila Jab Hume Hawao Ne Bataya,
Aap Bhi Hume Yaad Kar Rahe The.

Mohabbat Naam Hai Jiska Wo Aisi Qaid Hai Yaaro,
Ki Umrein Beet Jaati Hain Sazaa Puri Nahin Hoti.

Woh Rakh Le Kahin Apne Paas Humein Qaid Karke,
Kaash Ke Humse Koi Aisa Gunaah Ho Jaaye.

Tapakti Hai Nigaahon Se Barasti Hai Adaaon Se,
Mohabbat Kaun Kehta Hai Ki Pehchaani Nahi Jati.

RuBaRu Milne Ka Mauka Milta Nahin Hai Roj,
Isliye Lafzon Se Tum Ko Chhu Liya Maine.

Jannat-e-Ishq Mein Har Baat Ajeeb Hoti Hai,
KisiKo Aashiqi Toh KisiKo Shayari Naseeb Hoti Hai.

Bahut Nayab Hote Hain Jinhe Hum Apna Kahte Hain,
Chalo Tumko Izaajat Hai Ki Tum Anmol Ho Jao.

Roj Saahil Se Samandar Ka Najara Na Karo,
Apni Soorat Ko Shabo-Roz Nihara Na Karo,
Aao Dekho Meri Najron Mein Utar Kar Khud Ko,
Aayina Hoon Main Tera Mujhse Kinara Na Karo.

Ijhaar-e-Mohabbat Pe Ajab Haal Hai Unka,
Aankhein Toh Raza-mand Hain Lab Soch Rahein Hain.

Dil Mein Na Ho Jurrat Toh Mohabbat Nahi Milti,
Khairaat Mein Itni Badi Daulat Nahi Milti.

Dil Mein Aahat Si Hui Rooh Mein Dastak Goonji,
Kis Ki Khushboo Yeh Mujhe Mere SirHane Aayi.

Kisi Se Pyar Karo Aur Tajurba Kar Lo,
Ye Aisa Rog Hai Jismein Dawa Nahi Lagti.

Inkaar Jaisi Lazzat Ikraar Mein Kahan,
Barhta Raha Ishq Ghalib Uski Nahi-Nahi Se.

Meri Mohabbat Ki Hadd Na Tay Kar Paoge Tum,
Tumhe Saanso Se Bhi Zyaada Mohabbat Karte Hain Hum.

Badlna Nahi Aata Hume Mausam Ki Tarah,
Har Ek Roop Main Tera Intejaar Karta Hoon,
Na Tum Samjh Sako Qayaamat Tak,
Kasam Tumhaari Tumhe Itna Pyaar Krte Hain.

Koi Ghazal Suna Kar Kya Karna,
Yun Baat Badakar Kya Karna,
Tum Mere The… Tum Mere Ho...
Duniya Ko Batakar Kya Karna.
Tum Saath Nibhao Chahat Se,
Koi Rasm Nibhakar Kya Karna,
Tum Khafa Hi Achhe Lagte Ho,
Phir Tumko Manakar Kya Karna.

I have no words to explain my love because I have got amazing person who can understand even my “silence”.

I don't know where I stand with him, and I don't know what I mean to him, all I know is that every time I think of him, akk I wanna do is be with him.

I may not be your first date, kiss or love but I want to be your last everything.

When I look into your eyes, I know I have found the mirror of my soul.

दिल उनके लिए ही मचलता है,
ठोकर खाता है, और संभलता है,
किसी ने इस कदर कर लिया दिल पर कब्जा,
दिल मेरा है पर उनके लिए ही धड़कता है ।

प्यार की आंच से तो पत्थर भी पिघल जाता हैं,
सच्चे दिल से साथ दे तो नसीब भी बदल जाता हैं,
प्यार की राहों पर गर मिल जाये सच्चा हमसफ़र,
तो कितना भी गिरा हुआ इंसान भी संभल जाता हैं

Her Ishq Me Maut Se Darta Kaun Hai,
Pyar To Ho Jata Hai Karta Kaun Hai,
Aapke Liye To Puri Duniya Hai Kurbaan,
Aur Aap Kehte Ho Ki Aapki Fikr Karta Kaun Hai…

The meeting of two personalities like the contact of two chemical substances: if there is any reaction, both are transformed.

I will love you until the stars go out, and the tides no longer turn.

You come to love not by finding the perfect person, but by seeing an imperfect person perfectly.

You may hold my hand for a while, but you hold my heart forever.

I want you. All of you. Your flaws. Your mistakes. Your imperfections. I want you, and only you.

Listen..Do you want to know a secret? Do you promise not to tell? Closer let me whisper in your ear say the words,I'm in love with you.

I love watching sunset starts rain you while smiling.

Every girl wishes for the guy who fights with whole world just to be with her and every boy wishes for such girl who holds his hand just to make him sure that she’s always there for him and will never leave him whatever would be the condition.

Love is complicated? Not really! It’s just about two people who can look into each others eyes and think I am so lucky to have you.

It’s funny how I can’t remember what I had for dinner last night but I will always remember every last detail of what happens when I’m with you.

A sweet reply by a boy to his girl..
Girl: what will u do if I’ll get angry on u?
Boy: I’ll just take u in my arms and hug u tightly till the warmth of my hug melts ur anger?

A girl (komal) and her boyfriend (rahul) were talking after a sweet fight ..
Komal : I never win
Rahul : now thats a lie!
Komal : how?
Rahul : b’coz you won my heart

Everything happens for a reason live it, love it, learn from it and be happy with yourself no matter what!

A good heart a good nature
A good heart a good nature r 2 different issues
A good heart can win many relationships
But a good nature can win many hearts.

Some love one some love two
Some love one some love two
I love one that is u.

I want you to be happy because you deserve it, I want you to be happy because it makes me happy to see you, the way you were are always meant to be.

When I am in a relationship nobody looks better to me then the person I am with I don't care how attractive someone is my baby is more attractive.

He had beautiful eyes,the kind you could get lost in and I guess I did.

Wo Kehti Rahi Tum Mere Ho,
Mujhe Sunna Tha, Main Tumhari Hoon.

Tera Roothna Bhi Itna Acha Lagta Hai,
Ki Dil Karta Hai Dinbhar Tujhe Chhedta Hi Rahoon.

Mujhe Aisi Girlfriend Chaiye,
Jisme Mai Aur Tum Nahi Hum Hona Chaiye.

ऐसा सहारा बनेंगे तुम्हारा कि,
कभी टूट ना पाओगे,
और इतना चाहेंगे तुम्हें कि,
कभी रूठ ना पाओगे ।

अब देखो किसकी जान जाती है?
मैंने उसकी और उसने मेरी,
कसम खाई है ।

If I know what love is, it is because of you.

I was, and I remain, utterly and completely and totally in love with you.

I don’t want to be your number one, I want to be your only one.

To my love, I promise to you with all my heart… I’ll never stop loving you.

I like it when you smile but I love it when I’m the reason.

There is a peace when there is a love, let’s love to create a peace.

Being in love with you… makes every day worth getting up for.

Mightier than the waves at sea is my love for you.

Love is not what the mind thinks, but what the heart feels.

Every moment spent with you is a moment I treasure.

You are the first and last thing on my mind each and every day.

Love has no age no limit & no death.

Everyday I look at the keyboard, and I always see you and I together.

I won’t give up on you… so don’t give up on me…

I get mad because I care.

And in the end, the love you take, is equal to the love you make.

I will love your imperfection with my imperfect heart.

I still remember the first day I meet you.

If you can stay positive in a negative situation you win.

A bad attitude can literally block love, blessing and destiny from finding you.

You need power only when you want to do something harmful, otherwise love is enough to get everything done.

I sent love and I received pain.

Be good enough to forgive someone, but don't be stupid enough to trust them again.

Love is perfect when it's true.

All dreams come true if we have the courage to pursue them.

I may not show it but I care about you a lot more than you think.

तुम मेरी जिंदगी की वो कमी हो,
जो मेरी जिंदगी में जिंदगी भर रहेगी ।

Shikayat To Khud Se Hai, Tumse To Aaj Bhi Ishq Hai.

Main Chahti Hoon, Tum Pe Sirf Mera Haq Ho...

और कितना प्यार करू मैं तुम्हे, की तुम्हे दिल में रख कर भी दिल नहीं भरता ।

बहुत बुरे हो तुम, फिर भी तुमसे अच्छा कोई नहीं लगता ।

सोचा था आज तेरे सिवा कुछ और सोचूं,
अभी तक इस सोच में हूँ, कि और क्या सोचूं?

मत पूछ वजह की क्यू चाहती हूँ तुझे,
क्योंकि सच्चा इश्क वजह से नहीं बेवजह होता है ।

सच्ची मोहब्बत कभी खत्म नहीं होती,
वक़्त के साथ खामोश हो जाती है ।

मैं चाहती हूँ तुम पे, सिर्फ मेरा हक़ हो ।

मुकम्मल ना सही अधूरा ही रहने दो,
ये इश्क़ है कोई मक़सद तो नहीं है ।